केसरिया हो या हरा हो बालम!
या हो काला, या गोरा,
या नीला या पीला!
जब दिल से दिल का तार जुड़ा हो,
तो सारा जग रंगीला!
फिर आए नहीं कोई रास्ते!
ना आम-आवाम, ना तेरे साम-धाम!
जब दिल से दिल का तार जुड़ा हो,
कोई रोक सके है क्या?

पर इस बात पे मैं तय हूँ,
तू है, तो मैं हूँ
तू है, तो मैं हूँ

जो बोयेगा, सींचेगा वही
दिल जो जकड़े क्यों पकडे वही?
दिल पे बोझा लिए ढोये तू ही
इसमें जो खोया लौटेगा नहीं

करें रहमत आ मिलकर!
तू आज़ाद दिल कर
अहम से, बड़ी से,
सफ़ा कर खुद को खुदी से

छोड़ो अब ये रंजिशें, दिल साफ़ करें
जो भी गीले-शिकवे हैं, सब माफ़ करें

चल मनफ़ी हटाएँ!
आ नफरत मिटाएँ!
भुलाकर, दुआ कर,
सफ़ा कर खुद को खुदी से

हमसाए हम सारे,
सारे हम साए हैं
कोई ना किसी से बड़ा
उरूज पे इन्केसारी है!

हमसाए हम सारे, सारे हम साए हैं
सारे हम साए हैं, हमसाए हम सारे

Kesariya ho ya hara ho baalam,
ya ho kaala, ya gora, ya neela, ya peela!
Jab dil se dil ka taar juda ho,
to saara jag rangeela!
Phir aaye nahi koi raaste,
na aam-aavaam, na tere saam-dhaam!
Jab dil se dil ka taar juda ho,
koi rok sake hai kya?

Par is baat pe mai.n tay hoo.n,
tu hai, to mai.n hoo.n
tu hai, to mai.n hoo.n

Jo boyega, seenchega wahi
Dil jo jakde, kyu.n kakde wahi?
Dil pe bojha liye dhhoye tu hi
Ismei.n jo khoya lautega nahi

Karei.n rehmat aa mil kar!
Tu aazaad dil kar!
Aham se, badi se,
safa kar khud ko khudi se

Chhorho ab ye ranjishei.n dil saaf karei.n
Jo bhi giley shikwey hai.n, sab maaf karei.n
Chal manfi hataein!
Aa nafrat mitayein!
Bhula kar, dua kar,
safa kar khud ko khudi se

Humsaaye hum saare,
saare hum, saaye hai.n
Koi na kisi se bada
urooj pe inkesaari hai

Humsaaye hum saare, saare hum saaye hai.n
Saare hum saaye hai.n, humsaaye hum saare

There are currently not any Safa – Lyrics available.